परिचय

श्री बालाजी महाराज की असीम अनुकम्पा से स्वर्गीय श्री बनवारीलाल बाबा  को मेहंदीपुर बालाजी धाम में एक धर्मशाला निर्माण करने का स्वप्न आया |

 

श्री अभय राम गोयल जी ने कई लोगो से धर्मशाला की रचना हेतु विचार विमर्श करके “मेहंदीपुर बालाजी सेवा सदन ” नामक एक संस्था की स्थापना की | धर्मशाला निर्माण हेतु कलकत्ता ,दिल्ली,छत्तीसगढ़,हरयाणा आदि जगहों से ट्रस्टीगण बनाये गए| सभी ट्रस्टीगणों ने प्रेमपूर्वक और श्रद्धा से अपना पूर्ण सहयोग देकर धर्मशाला की स्थापना के स्वप्न को संभव किया| हमारे सारे ट्रस्टीगणों की सेवा भावना को हम दिल से नमन करते है  ,जिनके कारण यह भव्य धर्मशाला इस मुकाम पर पहुंच सका है|

                                                                                                                                  

मेहंदीपुर कलकत्ता धर्मशाला में ग्राउंड प्लस दो तल्ले है ,जिनमे कुल ७० कक्ष बनाये गए है| यात्रियों की सुविधा के लिए  ए.सी. रूम ,जनरेटर ,लिफ्ट, पार्किंग की जगह, गरम पानी के लिए गीजर, कम्बल,आदि की व्यवस्था की गयी है|  |यहाँ छप्पन भोग का प्रसाद भी बनाया जाता है|  प्रसिद्ध मेहंदीपुर बालाजी का पवित्र मंदिर के कुछ ही दूरी पर यह धर्मशाला बनायीं गयी है ,जिससे यात्रीगण पैदल भी जा सकते है | यहाँ यात्रियों के खाने की सुविधा के लिए भोजनालय का प्रबंद भी किया गया है |

धर्मशाला के मध्य में भक्ति भाव से एक विशाल रामदरबार मंदिर की स्थापना की गयी है,जो की बहुत ही मनमोहक कर देने वाली है| यात्रीगण कई देर यहाँ पर बैठकर अपनी श्रद्धा अर्पण करते है|

कई लोगो की एक संग रुकने के लिए बड़े कमरों का भी प्रबंध है, जिससे सब एक संग रह सके | संग ही धार्मिक फंक्शन्स और मीटिंग्स के लिए एक बड़ा हॉल भी निर्मित किया गया है ,जिसे आवश्यकता अनुसार इस्तेमाल किया जा सके| बालाजी के चरणों में शरणातियो की सेवा भावना में हम हमेशा उपस्तिथ रहेंगे | आप यहाँ के मैनेजर से फ़ोन में बात करके रिजर्वेशन ले सकते है|

शब्दकोष

"यह बहुत ही विशाल और सुन्दर धर्मशाला है.मंदिर बहुत ही पावन है.कमरे भी अछि तरह से बनाये गए है "
निधि सराफ
" हेमंत बांका रेस्टोरेंट का खाना और रूम की साइज भी अच्छी है,बड़ी और सुन्दर धर्मशाला है"
हेमंत बांका
" कलकत्ता मेहंदीपुर धर्मशाला यहाँ रुकने के लिए बहुत ही अच्छी है "
कैलाश अग्रवाल